About Us

Relevance of our existence

ISD came into existence at the backdrop of unprecedented violent conflict that South Asia has witnessed over the last ten years. Now they have become a routine affair. Thousands of men, women and children fell victim to this madness. As Neruda says :

Read More

Poster

Gayatri Mantra OS
Sant Paltudas OS
Aazami Saheb OS
Ambedkar OS

Popular Material

 SACH - Issue 55

SACH

July - September 19

Religious intolerance is a rising global concern and South Asia is no exception. The tension between the freedom to spread ones beliefs and the freedom of others to not be coerced is at the heart of an alarming majoritarian trend in South Asia. Over the last decade, governments across the South Asia region have taken legal measures such as prohibiting religious conversions and often the motivation behind these laws, though not officially stated as such, is to protect the dominant religious tradition from a perceived threat from minority religious groups.


Read More

Samrath - Jul-Sept-2019

SAMRATH

July - September 19

इस साल हम गांधीजी की 150वीं जयंती मना रहे हैं। लेकिन क्या हम कभी इस पर विचार करते हैं कि हिंसा हमारी रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बनती जा रही है। आतंकवाद, उग्रवाद, धार्मिक असहिष्णुता, मॉब लिंचिंग आदि ने जनजीवन को नरक बनाकर रख दिया है। यह सारी समस्याएं निश्चित ही बहुत से कारणों से उपजी हैं। जिनके निवारणा के बिना इनसे छुटकारा संभव नहीं लेकिन क्या यह सत्य नहीं है कि आपके उद्देश्य कितने ही प्रशंसनीय क्यों न हों उनकी प्राप्ति के लिए हिंसा का मार्ग कैसे जायज हो सकता है, जो स्वयं समाज के लिए नासूर है।


Read More

Booklet 86

BOOKLET

Booklet-86 | 2019

हमारी साझी विरासत के मौजूदा शक्ल अख़्तियार करने में जो कई शताब्दियों की ऐतिहासिक प्रक्रिया का परिणाम है, मुस्लिम सूफ़ियों का भी बहुत बड़ा हिस्सा रहा है। देश का शायद ही कोई भाग हो जहां इन सूफ़ियों की दरगाहें, मज़ारात या ख़ानक़ाहें न पाई जाती हों। इन सूफ़ियों के उर्स और मेलों में हर वर्ष लाखों लोग दूर-दूर से पहुंचते हैं। उनसे श्रद्धा रखने वालों में सिर्फ मुसलमान ही नहीं होते बल्कि उनमें एक बड़ी संख्या हिंदुओं और दूसरों धर्मों के अनुयायियों की होती है। ये सिलसिला सैकड़ों साल से जारी है जिसे देखते हुए यह प्रश्र मन में उठता है कि आख़िर लोग इन सूफ़ियों से इतनी गहरी श्रद्धा क्यों रखते हैं और उनकी मृत्यु के सैकड़ों साल के बाद भी उनकी दरगाहों और मज़ारों पर गहरी आस्था के साथ क्यों हाजि़र होते हैं। इस प्रश्र का उत्तर ढूंढने के लिए हमें तसव्वुफ़ (सूफ़ीवाद) का इतिहास, सूफ़ियों की शिक्षा और उनके विचारों पर एक नज़र डालनी होगी।


Read More

WALLPAPERS

Poster Wallpapers - Gayatri-Mantra Poster Wallpapers - SantPaltoodas Poster Wallpapers - AamaAzmi Poster Wallpapers - Ambedkar
Gayatri Mantra Sant Paltoodas Aama Azmi Ambedkar

Reading (Hindi)

QUICK LINK

Contact Us

INSTITUTE for SOCIAL DEMOCRACY
Flat No. 110, Numberdar House,
62-A, Laxmi Market, Munirka,
New Delhi-110067
Phone : 091-11-26177904
Telefax : 091-11-26177904
E-mail : notowar.isd@gmail.com

How to Reach

Indira Gandhi International Airport - 14 Km.
Domestic Airport - 7 Km.
New Delhi Railway Station - 15 Km.
Old Delhi Railway Station - 20 Km.
Hazarat Nizamuddin Railway Station - 15 Km.
Radio Taxi Numbers : 44333222 (Delhi Cab) 43434343 (Easy Cab)